Home / सप्ताह की कविता / नया सत्र शिक्षण शिक्षा का…

नया सत्र शिक्षण शिक्षा का…

नया सत्र शिक्षण शिक्षा का ।
ज्ञान, ध्यान और दीक्षा का ।।

अबोध, अज्ञान और चंचल मन ।
गीली मिट्टी सा कोमल तन ।।
शीतल शांत संस्कारी आंगन ।
विद्यालय हो बाल मन दर्पण ।।

गुरुओं की प्रेम की भाषा ।
बाल मन में हो अभिलाषा ।।
मिले उन्हें ऐसा संसाधन ।
घर जैसा हो विद्या का आंगन ।।

ऐसी अलख जगाए हम ।
बन जाए शिक्षा का उपवन ।।
गांधी सुभाष बने ये कलाम ।
राष्ट्र निर्माण का दे पैगाम ।।


पवन कुमार सेन
व्याख्याता कांकेर

About CSHD Bharat

Check Also

छत्तीसगढ़ी कविताओं में मद्य-निषेध

शराब, मय, मयकदा, रिन्द, जाम, पैमाना, सुराही, साकी आदि विषय-वस्तु पर हजारों गजलें बनी, फिल्मों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *